sankhya vachak visheshan kise kahate hain | संख्यावाचक विशेषण की परिभाषा एवं इसके भेद

प्रिय पाठकों नमस्कार ! आज के इस लेख में हम जानेंगे कि समूहवाचक विशेषण किसे कहते है समूह वाचक विशेषण की परिभाषा, समूहवाचक विशेषण के भेद तथा इसके उदाहरण क्या क्या है। समूहवाचक विशेषण हिंदी व्याकरण का एक महत्वपूर्ण टॉपिक है कई बार प्रतियोगी परीक्षाओं में इससे सम्बंधित प्रशन आते रहते है। इसलिए आज हम इसके बारे में जानेंगे । तो चलिए अब यह पोस्ट शुरू करते हैं और समूहवाचक विशेषण को विस्तार से समझते हैं ।

संख्यावाचक विशेषण किसे कहते हैं ?

sankhya vachak visheshan – संख्यावाचक विशेषण वे विशेषण होते हैं जो किसी वाक्य में संख्या की सहायता से संज्ञा या सर्वनाम के गुणों को व्यक्त करते हैं। इन विशेषणों का उपयोग संज्ञाओं को संख्या के साथ जोड़कर उन्हें अधिक स्पष्ट बनाने के लिए किया जाता है। सामान्यतः संख्यावाचक विशेषण का अर्थ संख्या का बोध करवाने वाला होता है।

इन विशेषणों का उपयोग वाक्यों में संज्ञाओं के साथ उनकी संख्या बताने के लिए किया जाता है। वाक्य में  संख्यावाचक विशेषणों का उपयोग करने से संज्ञाओं को अधिक स्पष्ट बनाने में मदद मिलती है। इन विशेषणों के उपयोग से हम किसी संख्यात्मक मान को संज्ञा के साथ जोड़कर एक नया शब्द बनाते हैं।

संख्यावाचक विशेषण की परिभाषा

sankhya vachak visheshan – संख्यावाचक विशेषण (Numeral Adjectives) वे विशेषण होते हैं जो संख्या की सूचना देते हुए संज्ञा का वर्णन करते हैं। उदाहरण के लिए, “दो किताबें” जहाँ “दो” एक संख्यावाचक विशेषण है जो संज्ञा “किताबें” की संख्या बताता है। इन विशेषणों के उपयोग से हम किसी संख्यात्मक मान को संज्ञा के साथ जोड़कर एक नया शब्द बनाते हैं।

संख्यावाचक विशेषण के भेद

सामन्यतः समूहवाचक विशेषण मुख्य दो प्रकार के होते हैं –

  1. निश्चित समूहवाचक विशेषण
  2. अनिश्चित समूहवाचक विशेषण

निश्चित संख्यावाचक विशेषण – 

निश्चित संख्यावाचक विशेषण (Definite Group Adjectives) वे विशेषण होते हैं जो किसी वाक्य में समूह की संख्या या समूह में मौजूद वस्तुओं की निश्चित संख्या को व्यक्त करते हैं। इन विशेषणों के उपयोग से हम किसी विशिष्ट समूह के संदर्भ में बात कर सकते हैं।

उदाहरण के लिए, वाक्य “चार लड़के क्रिकेट खेल रहे हैं” में “चार” एक निश्चित समूहवाचक विशेषण है जो संज्ञा “लड़के” की संख्या बताता है।

निश्चित संख्यावाचक विशेषण के भेद – 

  • पूर्णांकबोधक निश्चित संख्यावाचक विशेषण
  • अपूर्णांकबोधक निश्चित संख्यावाचक विशेषण
  • क्रमवाचक निश्चित संख्यावाचक विशेषण
  • आवृत्तिवाचक निश्चित संख्यावाचक विशेषण
  • समूहवाचक निश्चित संख्यावाचक विशेषण
  • प्रत्येकबोधक निश्चित संख्यावाचक विशेषण

अनिश्चित संख्यावाचक विशेषण –

अनिश्चित संख्यावाचक विशेषण वह विशेषण होता है, जो एक अनिश्चित समूह के बारे में बताता है जिसमें संख्या की गणना नहीं की जा सकती है। यह विशेषण अपेक्षाकृत अन्य संख्यावाचक विशेषणों से कम संख्या का उपयोग करते हुए उपयोग किए जाते हैं।

उदाहरण –

  1. कुछ लोग अपना बच्चों के साथ आते हैं। (अनिश्चित समूहवाचक विशेषण “कुछ”)
  2. ज़्यादातर समय आप इस कार्य के लिए दिया जाएगा। (अनिश्चित समूहवाचक विशेषण “ज़्यादातर”)
  3. हमेशा कुछ नया सीखो। (अनिश्चित समूहवाचक विशेषण “कुछ”)

संख्या वाचक विशेषण के 10 उदाहरण

नीचे निश्चित संख्यावाचक विशेषण और अनिश्चित संख्यावाचक विशेषण दोनों प्रकार के संख्यावाचक विशेषणों के उदाहरण दिए गए है –

  1. मेरे तीन बेस्ट फ्रेंड हैं।
  2. मेरे पास पांच कार हैं।
  3. मरे पास दो किलो सेव हैं।
  4. मेरे भाई के पास एक बड़ा घर हैं।
  5. मेरी एक साईकिल हैं।
  6. कुछ लोग अपना बच्चों के साथ आते हैं।
  7. ज़्यादातर समय आप इस कार्य के लिए दिया जाएगा।
  8. हमेशा कुछ नया सीखो।
  9. आज बहुत सारा खाना बट रहा हैं।
  10. आज गार्डन में बहुत भीड़ हैं।
  11. कल बाजार बहुत भरा हुआ था।

FAQ’s

1. संख्यावाचक के कितने भेद होते हैं?

संख्यावाचक विशेषण के दो भेद होते हैं (1) निश्चित संख्यावाचक विशेषण और (2) अनिश्चित संख्यावाचक विशेषण।

2. संख्यावाचक विशेषण का उदाहरण क्या है?

3. संख्यावाचक विशेषण क्या होता है?

संख्यावाचक विशेषण वे विशेषण होते हैं जो संख्या की सूचना देते हुए संज्ञा का वर्णन करते हैं।

आज आपने सीखा –

आशा करता हूँ की यह  जानकरी आपको अच्छी लगी होगी और अब आप जान गए होंगे की संख्या वाचक विशेषण किसे कहते है और संख्या वाचक की परिभाषा, भेद तथा संख्या वाचक के उदाहरण के बारे में जान गए होंगे । अगर आपको इस पोस्ट से रिलेटेड कोई भी समस्या हो तो हमें कमेंट करके जरुर बताये हम आपकी मदद जरुर करेंगे ।

Leave a Comment